हाईवे की जमीन नहीं बेचें किसान, मिलेगा ज्यादा दाम - जानें सरकार का प्लान

हाईवे की जमीन नहीं बेचें किसान, मिलेगा ज्यादा दाम - जानें सरकार का प्लान

Posted On - 17 Sep 2021

गडकरी की सलाह:  क्या है सरकार का प्लान और इससे किसानों क्या होगा फायदा?

केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने किसानों को सलाह दी है कि वे हाईवे की जमीन नहीं बेचें, उन्हें आगे इसके अच्छे भाव मिलेंगे। हाल ही में केंद्रीय मंत्री गडकरी ने दौसा में मुंबई- दिल्ली ग्रीनफील्ड हाईवे का निरीक्षण किया था और उसके बाद वे मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

Buy Used Tractor

मीडिया में प्रकशित खबरों के अनुसार केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे के आसपास राजस्थान सरकार जमीन एक्वायर करे, आप देरी करोगे तो नेता, बिल्डर लोग पहले जमीन ले लेते हैं। बेचारे गरीब किसान जमीन बेच देते हैं। मैं किसानों से कहना चाहता हूं, जमीन पर करोड़ों का भाव आए तो भी बेचना मत, इसे रोककर रखिए। किसी डवलपर के साथ जॉइंट वेंचर करके जमीन को डवलप करके करोड़ों कमा सकते हैं। आजकल लोग हमारे पास हाईवे के लिए जमीन अवाप्त करने के लिए ज्ञापन लेकर आते हैं क्योंकि हम बाजार भाव से ज्यादा पैसा देते हैं। पहले जमीन अवाप्त नहीं करने के ज्ञापन लेकर आते थे अब ऐसा नहीं है।

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रैक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1  


इलेक्ट्रिक हाईवे बनने से कैसे होगा किसानों को फायदा

केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि किसान अपनी जमीनों को अभी न बेचें, उन्हें आने वाले वक्त में बहुत लाभ मिलेगा। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि रोड से विकास होता है। रोड के आने से जमीन का भाव बढ़ जाता है। मैं किसानों से आग्रह करूंगा कि जमीन बेचें नहीं, आगे आपको ज्यादा पैसा मिलेगा। मैं चाहता हूं कि किसान धनवान बनें। जब हम रोड बनाते हैं तो बिल्डर और डेवलपर जमीन खरीद लेता है और फायदा उठाता है।


दिल्ली-जयपुर इलेक्ट्रिक हाईवे का होगा निर्माण

केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि मेरा सपना है दिल्ली-जयपुर इलेक्ट्रिक हाईवे बनाया जाए। इस इलेक्ट्रिक हाईवे पर बस, ट्रक सहित सभी इलैक्ट्रिक वाहन ही चले। इलेक्ट्रिक हाईवे का आगे मूर्त रूप दिया जाएगा, यह मेरा सपना है। गडकरी ने कहा कि दिल्ली से किशनगढ़ तक हाईवे सुधार के लिए नया डीपीआर बनवाया है। 1200 करोड़ की लागत से फ्लाईआवेर बनाने सहित सुधार के काम होंगे। डेढ साल में 100 प्रतिशत परफेक्ट हो जाएगा। दिल्ली जयुपर हाईवे पर कई जगह अतिक्रमण है। इसे जल्द ठीक कर दिया जाएगा।


दिल्ली एनसीआर के लिए 53,000 की 15 योजनाएं, 14 पर काम शुरू

इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमने ईस्टर्न पेरीफेरल रोड बनाकर दिल्ली में प्रदूषण कम किया, इसे और कम करने के लिए दिल्ली-एनसीआर में हम करीब 53,000 करोड़ रुपए की 15 योजनाएं लाए हैं और 14 पर काम शुरू हो गया। दिल्ली के लोगों को ट्रैफिक और प्रदूषण से राहत मिलेगी। गडकरी ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली -मुंबई एक्सप्रेस वे से जोड़ा जाएगा, जिसमें करीब 2,100 करोड़ रुपए की लागत से 31 किमी। 6 लेन ग्रीनफील्ड मार्ग जेवर एयरपोर्ट के लिए बना रहे हैं।

Buy New Tractor


दिल्ली से मुंबई तक का सफर 12 घंटे में होगा तय

सडक़ मार्ग से सिर्फ 12 घंटे में दिल्ली से मुंबई का सफर जल्द ही हकीकत बनने वाला है। इसका श्रेय गडकरी और उनकी टीम को जाता है। हरियाणा, राजस्थान और गुजरात समेत कई राज्यों से गुजरने वाले दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है। केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के कुशल नेतृत्व की ही देन है कि उनके मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2020-21 में रेकॉर्ड 37 किलोमीटर प्रतिदिन की रफ्तार से हाईवे का निर्माण किया। इतना ही नहीं, पिछले सात साल में राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई 50 फीसदी तक बढक़र मार्च 2021 तक 1,37,625 किमी हो गई जो अप्रैल 2014 में 91,287 किमी थी।


हरियाणा के लोगों को मिलेगी ये सुविधाएं

नितिन गडकरी ने कहा कि हरियाणा में 6 जगहों पर सडक़ किनारे जन-सुविधाएं मिलेंगी। जिसमें स्थानीय उत्पादकों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसमें हेलीकॉप्टर एंबुलेंस की सेवाएं भी दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि हम इसमें ड्रोन का उपयोग भी करेंगे जो उद्योग और व्यवसाय के लिए उपयोगी होगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हरियाणा में इस परियोजना के तहत कुल 160 किमी रोड का निर्माण होना है, जिसमें 130 किमी रोड का कार्य अवार्ड हो चुका है। हरियाणा को राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र से जोडक़र यह एक्सप्रेस-वे राज्य में आर्थिक समृद्धि और विकास लाएगा।


दिल्ली-जयपुर हाईवे की कमियों को जल्द किया जाएगा दूर

दिल्ली जयपुर हाईवे पर कई जगह खामियों के सवाल पवर गडकरी ने कहा कि दिल्ली-जयपुर हाईवे के चार ठेकेदार भाग गए। दो का दिवाला पिट गया। इस हाईवे को लेकर वसुंधरा राजे से 25 बार मीटिंग करवाई। 12 बैंकों के 1300 करोड़ के लेन को लेकर विवाद हुए। अब हम किशनगढ तक फ्लाईओवर सहित सुधार के काम डेढ़ साल में पूरे हो जाएंगे। दिल्ली-जयपुर हाईवे की तकलीफ के लिए पूरी तरह मैं जिम्मेदार नहीं। मेरे आने के पहले इसका टेंडर हो चुका था। फिर भी इस पर काम हुआ है और आगे इसे ठीक किया जाएगा।


हाईवे बनने से परेशान नहीं होंगे वन्य जीव, इसका भी रखा जाएगा ध्यान

गडकरी ने कहा कि वाहनों के हॉर्न में अब भारतीय म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट्स की धुन सुनाई देगी। वाहनों के हॉर्न में अब सारंगी, तबला, हार्मोनियम सहित भारतीय म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट की धुनें लगाई जाएंगी। इससे साउंड पॉल्युशन कम होगा। वन्यजीवों के आसपास होकर गुजरने वाले हाईवेज से वन्यजीव परेशान नहीं होंगे।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्तिपुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top