• Home
  • News
  • Agriculture News
  • कोरोना का कहर, एक ही दिन में मिले 1.15 लाख मामले, पिछले सारे रिकार्ड टूटे

कोरोना का कहर, एक ही दिन में मिले 1.15 लाख मामले, पिछले सारे रिकार्ड टूटे

कोरोना का कहर, एक ही दिन में मिले 1.15 लाख मामले, पिछले सारे रिकार्ड टूटे

जानें, देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति और रोकथाम के उपाय?

अभी दो दिन भी नहीं बीते होंगे कि एक बार फिर कोरोना ने अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया है। रविवार के बाद दूसरी बार कोरोना के इतने अधिक मामले सामने आए हैं जिसने अब तक के सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं। इस खबर के माध्यम से हम आपको डरा नहीं रहे हैं बल्कि सतर्क कर रहे हैं, सुरक्षित रहे और इस कोरोना महामारी को हल्के में न लें। बहरहाल देश में मंगलवार को कोरोना के मामलों में इजाफा हुआ है। मंगलवार को 1.5 लाख मामले एक ही दिन में दर्ज किए गए हैं, इससे पहले रविवार को 1,03,764 नए मामले सामने आए थे। मीडिया में प्रकाशित खबरों के हवाले से देश में कोरोना की दूसरी लहर ने मंगलवार को अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए। नवीन आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में कोरोना के 1,15,239 नए मामले दर्ज किए गए हैं। महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक प्रतिदिन मिलने वाले नए संक्रमितों की यह बड़ी संख्या है। कोरोना की पहली लहर में एक दिन में मिले नए मरीजों की सबसे बड़ी संख्या 97,894 थी जिसे 17 सितंबर 2020 को दर्ज किया गया था। इस अवधि में 630 और कोरोना मरीजों की मौत के बाद महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढक़र 1,66,207 हो गई। आंकड़ों के अनुसार देश में नए मामलों में बढ़ोतरी के साथ उपचाराधीन मामलों की संख्या बढक़र 8,38,650 हो गई, जो कुल मामलों का 6.5 प्रतिशत है। देश में 12 फरवरी को सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मामले थे, जो उस समय के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थे।


कोरोना से महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित, 55,469 नए मामले

कोरोना से इस समय देश में जो राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित हैं उनमें महाराष्ट्र का नाम टॉप लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। यहां मंगलवार (6 अप्रैल) को कोरोना वायरस संक्रमण के 55,469 नए मामले सामने आए। अब महाराष्ट्र में कुल कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढक़र 31,13,354 हो गई है। वहीं महामारी से 297 और मरीजों की मौत होने के बाद अब मृतकों की संख्या 56,330 हो गई है। इसी के साथ अन्य राज्यों में कर्नाटक में 6150, यूपी में 5895, केरल में 3502 और दिल्ली में 5100 नए कोरोना मामले सामने आए हैं।


24 घंटों के दौरान इन चार राज्यों में हुई 630 मौत

कोरोना से 24 घंटों के दौरा हुई कुल 630 मौतों में से 71 फीसदी से अधिक मौतें केवल चार राज्यों में हुई हैं जिनमें महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़ और कर्नाटक शामिल हैं। मीडिया में प्रकाशित आंकड़ों के हवाले से पिछले 24 घंटे के दौरान महाराष्ट्र में 297, पंजाब में 61, छत्तीसगढ़ में 53 और कर्नाटक में 39 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है।


इन पांच राज्यों में सक्रिय मामलों की संख्या सबसे अधिक

कोरोना संक्रमण से देश में जो राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। उनमें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक व केरल हैं, यहां कोविड-19 के सक्रिय मामले सबसे अधिक पाए गए हैं। इन राज्यों में 74 फीसदी मरीज ऐसे भी हैं जिनका इलाज चल रहा है। आंकड़ों के अनुसार इन पांच राज्यों में कोरोना के सक्रिय मामले इस प्रकार हैं-

राज्य सक्रिय मामलें
महाराष्ट्र    472283
छत्तीसगढ़ 52445
कर्नाटक 45107
केरल 29960
पंजाब 25913

 

अब तक कितने लोगों का किया गया टीकाकरण

मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अब तक कोविड-19 टीके की 4.36 करोड़ खुराक दी गई है, जिनमें से 16.12 लाख खुराक अकेले शनिवार (20 मार्च 2021) को दी गई। मंत्रालय ने बताया कि इन आंकड़ों में 77,63,276 स्वास्थ्यकर्मी हैं, जिन्हें टीके की पहली खुराक दी गई है और 48,51,260 स्वास्थकर्मी ऐसे हैं जिन्हें टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है। अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले 80,49,848 कर्मियों को टीके की पहली खुराक और 25,41,265 कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है। मंत्रालय ने बताया कि शनिवार शाम सात बजे तक प्राप्त वैकल्पिक आंकड़ों के मुताबिक अब तक देश में कोविड-19 टीके की 4,36,75,564 खुराक दी जा चुकी है। इनमें से टीके की 16,12,172 खुराक शनिवार को दी गई।


अब तक 25 करोड़ से अधिक लोगों की हुई जांच

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में 5 अप्रैल तक 25,02,31,269 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई। इनमें से 12,11,612 नमूनों की जांच सोमवार को की गई थी।


देश में कोरोना टीकाकरण अभियान को लेकर सरकारी प्रयास

भारत में कुछ राज्यों में एक बार फिर कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं देश में टीकाकरण अभियान भी जोरों पर है। कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेज गति से बढऩे के बीच सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने मंगलवार को निजी टीवी चैनलों से कोविड के प्रति उपयुक्त व्यवहार और पात्र आयु वर्ग के लोगों टीकाकरण के लिए संदेश का प्रसार करने का आग्रह किया था। इसका उद्देश्य लोगों के बीच व्यापक स्तर पर जागरूकता फैलाना है। मंत्रालय के परामर्श में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चार अप्रैल को हुई बैठक का उल्लेख किया गया है, जो उभरती स्थिति की समीक्षा के लिए की गई थी।


45 साल व इससे ऊपर वाले लोगों को टीकाकरण की सलाह

देशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने 45 वर्ष या उससे अधिक के अपने सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने की सलाह दी है। इसमें कहा गया है कि सरकार स्थिति की गहरी निगरानी कर रही है और कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम के दृष्टिगत टीकाकरण के लिए समूहों को प्राथमिकता देने के वास्ते अपनाई गई रणनीति के आधार पर 45 साल या उससे अधिक उम्र के सभी व्यक्ति टीकाकरण अभियान में हिस्सा ले सकते हैं। केंद्र सरकार के सभी विभागों एवं मंत्रालयों को जारी इस आदेश में कहा गया है, ‘‘उपरोक्त के मद्देनजर, 45 साल या उससे अधिक उम्र के सभी केंद्रीय कर्मचारियों को सुझाव दिया जाता है कि संक्रमण के प्रसार पर प्रभावी रोक लगाने के लिए वह टीकाकरण करवाएं। बता दें कि 1 अप्रैल से देश में 45 साल व उससे ऊपर के लोगों का टीकाकरण करने का काम शुरू कर दिया गया है।


कोरोना संक्रमण से अपने सुरक्षित रखने के लिए आप क्या करें?

चाहे आप ने अभी तक वैक्सीन ली हो या न ली हो यदि आप कोरोना से अपने को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो आपको मास्क लगाना, हाथ धोना और दो गज की दूरी बनाए रखना जैसे नियमों का पालन करते रहना होगा। संभव हो तो आप सभी इन नियमों को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लें। कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कर्मचारियों को टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों का पालन करने का सुझाव दिया गया है, जिसमें लगातार हाथ धोना, सेनेटाइजेशन, मास्क या फेस कवर पहनना और सामाजिक दूरी शामिल हैं।

विशेष: कोरोना की अपडेट जानकारी एवं टीकाकरण से संबंधित जानकारी हमारी वेबसाइट ट्रैक्टर जंक्शन पर देंखे।
 

Top Agriculture News

न्यूनतम समर्थन मूल्य : 11 लाख किसानों को किया 24 हजार करोड़ का भुगतान

न्यूनतम समर्थन मूल्य : 11 लाख किसानों को किया 24 हजार करोड़ का भुगतान

न्यूनतम समर्थन मूल्य : 11 लाख किसानों को किया 24 हजार करोड़ का भुगतान (Minimum Support Price: 24 thousand crores paid to 11 lakh farmers) पंजाब में पहली बार सीधे किसानों के खातों में पहुंचे 202.69 करोड़ रुपए

पशुपालन : वैज्ञानिकों ने पशुओं के लिए विकसित किए सस्ते टीके

पशुपालन : वैज्ञानिकों ने पशुओं के लिए विकसित किए सस्ते टीके

पशुपालन : वैज्ञानिकों ने पशुओं के लिए विकसित किए सस्ते टीके (Animal Husbandry: Scientists have developed cheap vaccines for animals)

गेंदे की खेती : गेंदे से बढ़ाएं खेतों की रौनक, होगा भरपूर मुनाफा

गेंदे की खेती : गेंदे से बढ़ाएं खेतों की रौनक, होगा भरपूर मुनाफा

गेंदे की खेती : गेंदे से बढ़ाएं खेतों की रौनक, होगा भरपूर मुनाफा (Marigold farming : Increase acreage with marigold, will be profitable)

मौसम को लेकर कृषि वैज्ञानिकों की किसानों को सलाह, एक-दो दिन नहीं करें ये काम

मौसम को लेकर कृषि वैज्ञानिकों की किसानों को सलाह, एक-दो दिन नहीं करें ये काम

मौसम को लेकर कृषि वैज्ञानिकों की किसानों को सलाह, एक-दो दिन नहीं करें ये काम (Agricultural scientists advise farmers about weather, do not do this work for a day or two)

close Icon

Find Your Right Tractor and Implements

New Tractors

Used Tractors

Implements

Certified Dealer Buy Used Tractor