थोक में 15 रुपए किलो बिका दशहरी आम, उपभोक्ता खुश , बागवान मायूस

थोक में 15 रुपए किलो बिका दशहरी आम, उपभोक्ता खुश , बागवान मायूस

Posted On - 08 Jul 2020

कोरोना लॉकडाउन में विदेश नहीं गया दशहरी, घरेलू बाजार में बंपर आवक

कोरोना के कारण इस बाद भारतीय आम विदेशों में नहीं पहुंच पाए। हालात यह है कि घरेलू बाजार में आम की बंपर आवक हो रही है। आवक ज्यादा होने की वजह से दशहरी आम के दाम औंधे मुंह गिर गए हैं। उत्तरप्रदेश के मलिहाबाद का मशहूर दशहरी आम 15-20 रुपए के थोक भाव में बिक रहा है जबकि अभी आधा सीजन बाकी रह गया है।

सीजन के दौरान मंडी में दिखने वाली चहल-पहल इस बार गायब है और गिने-चुने कारोबारी ही खरीद के लिए पहुंच रहे हैं। कारोबारियों को डर है कि निर्यात के ऑर्डर नहीं आए और मुंबई, दिल्ली के आढ़तियों ने माल नहीं उठाया तो दाम और नीचे चले जाएंगे। जो कारोबारी दोनों महानगरों में आम भेज चुके हैं, वे भी घाटे में हैं क्योंकि कोरोना के कारण माल मंडी से बाहर जा ही नहीं रहा है और व्यापारी भाड़ा तक नहीं निकाल पा रहे हैं।

 


बाजार सूत्रों के अनुसार निर्यात के नाम पर इस बार महज 10 टन दशहरी दुबई गया है, जबकि पिछले साल 120 टन आम दुबई, ओमान, कतर, दोहा, अबूधाबी और यूरोप भेजा गया था। थोक व्यापारियों के मुताबिक मौसम खराब रहने से दशहरी की गुणवत्ता भी इस बार अच्छी नहीं रही, जिससे निर्यात में दिक्कत आ रही है।

निर्यातक बता रहे हैं कि महामारी के डर से भी विदेशी खरीदार ऑर्डर नहीं दे रहे हैं। आम तौर पर निर्यात के ज्यादातर ऑर्डर अप्रैल-मई में आ जाते थे मगर इस बार लॉकडाउन के कारण उन दिनों धेले भर का भी कारोबार नहीं हुआ।


अगर आप अपनी  कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण,  दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।  

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back