कपास किसानों के लिए खुशखबर : कपास की कीमत 8200 रुपए प्रति क्विंटल पहुंची

Published - 25 Aug 2021

कपास किसानों के लिए खुशखबर : कपास की कीमत 8200 रुपए प्रति क्विंटल पहुंची

कपास की रेट : जानें, देश की प्रमुख मंडियों कपास के ताजा भाव

कपास किसानों के लिए खुशखबर आई है। वैश्विक बाजार में कपास की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल सालों के दौरान कपास के भावों मेें इतनी तेजी नहीं देखी गई है। अंतराष्ट्रीय बाजार सूत्रों की मानें तो वैश्विक बाजार में कपास की कीमतें सात साल के उच्चस्तर पर पहुंच गई है। इससे भारतीय कॉटन की कीमतेें जुलाई 2021 में दर्ज किए गए उच्चस्तर के करीब पहुंच गई है। इस हफ्ते कपास की कीमतों में 3 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया है। वहीं, जुलाई 2021 में इसके दाम 10 फीसदी बढ़े थे। वैश्विक कीमतों में 97 सेंट प्रति कपास की गांठ की तेजी आई है। यह तेजी तब आई है, जब ग्लोबल मार्केट में कॉटन की आपूर्ति में कमजोरी आ गई है। 

Buy Used Tractor

 

सबसे पहले सरकार की सभी योजनाओ की जानकारी के लिए डाउनलोड करे, ट्रेक्टर जंक्शन मोबाइल ऍप - http://bit.ly/TJN50K1 


इस साल किसानों के लिए लाभ का सौदा बनी कपास की खेती

इस साल किसानों के लिए कपास की खेती लाभ का सौदा साबित हो रही है। किसानों को कपास के बाजार में अच्छे दाम मिल रहे हैं जो सरकार की ओर से तय किए गए न्यूनतम समर्थन मूल्य से ऊंचे हैं। वहीं दूसरी ओर अंतराष्ट्रीय बाजार में भारतीय कपास की खूब मांग है। इसे देखते हुए किसानों के लिए इसकी खेती में बहुत संभावनाएं हैं। यदि कपास की वैश्विक मांग बढ़ती है तो इसके भाव और ऊपर जा सकते हैं। इस बात से इंनकार नहीं किया जा सकता है। इसे देखते हुए ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि अगले सीजन में किसान इसकी खेती में दिलचस्पी लेंगे  जिससे देश में कपास का रकबा बढ़ सकता है। 


भारत से निर्यात में हुई 54 बढ़ोतरी

मीडिया में प्रकाशित खबरों के अनुसार कपड़ा उद्योग में कपास की मांग में पिछले कुछ समय में इजाफा दर्ज किया है। साल 2021-22 के लिए ग्लोबल कॉटन का स्टॉक करीब 8.93 करोड़ गांठ रहने का अनुमान जताया गया है। यह पिछले 3 साल में सबसे कम है, जबकि वैश्विक उत्पादन 5 फीसदी बढक़र 11.8 करोड़ गांठ होने की उम्मीद की जा रही है। यह अब भी कोरोना महामारी के पहले के उत्पादन से काफी कम है। भारतीय बाजार में फसल के मजबूत होने की उम्मीद है। वहीं, निर्यात में पिछले साल के मुकाबले 54 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इन सभी वजहों के चलते कपास की कीमतों में इजाफा हो रहा है। बता दें कि भारत कपास व इससे जुड़े उत्पादों का निर्यात करीब 166 देशों को करता है जिससे इसे 100 बिलियन अमेरिकी डालर की आमदनी होती है। हमारे देश से सबसे अधिक कपास की खरीद बांग्लादेश, वियतनाम और पाकिस्तान के द्वारा की जाती है।


भारत विश्व स्तर पर सबसे ज्यादा कपास उगाने वाला देश

वैश्विक कपड़ा बाजार में उपयोग किए जाने वाले सभी प्रकार के रॉ मटेरियल में केवल कपास की हिस्सेदारी ही लगभग 31 प्रतिशत है, जो सब मिला कर 600 अरब डॉलर से अधिक है। भारत विश्व स्तर पर सबसे अधिक कपास उगाने वाला देश है, जिसकी वैल्यू चैन में लगभग 6 करोड़ लोग प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से शामिल हैं जिसमें कपास व्यापार और उसके प्रसंस्करण में लगभग 4 से 5 करोड़ लोगों का रोजगार भी शामिल है। भारतीय कपास का अधिकांश भाग 1 हेक्टेयर से कम के छोटे खेतों में उगाया जाता है। सीआरवीए अध्ययन भारत के तीन प्रमुख कपास उत्पादक राज्यों महाराष्ट्र, गुजरात और तेलंगाना के 13 जिलों में कपास की खेती और कपास प्रसंस्करण पर केंद्रित है।


भारत से किन-किन देशों को करता है कपास का निर्यात

भारत से कपास का निर्यात बांग्लादेश, चीन, वियतनाम, पाकिस्तान, इंडोनेशिया, श्रीलंका और अन्य देशों को निर्यात किया गया है। क्योंकि इन पड़ौसी देशों में कपास का उत्पादन कम होता है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा कपास उत्पादक और दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है। देश में गुजरात, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और तमिलनाडु मुख्य कपास उगाने वाले राज्य हैं।

Tractor Junction Mobile App


क्या है कपास का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2021 में

वैश्विक बाजार में मार्च 2021 के दौरान कपास के दाम में आई तेजी के बाद देश में कपास का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से 15 फीसदी बढ़ गया है। सरकार ने कपास का एमएसपी 5,825 रुपए प्रति क्विंटल और मध्यम लंबाई वाले रेशा कपास का एमएसपी 5,515 रुपए प्रति क्विंटल तय किया था। उस समय गुजरात में कपास का भाव 6,500 रुपए प्रति क्विंटल था। इसके बाद कपास के भावों में बढ़ोतरी हुई है।


देश की प्रमुख मंडियों में कपास के ताजा भाव

इन दिनों देश की प्रमुख मंडियों में कपास का भाव अच्छा चल रहा है। प्रतिदिन 100 से 200 रुपए तक की घटत बढ़त देखी जा रही है। देश की प्रमुख मंडियों में कपास के भाव इस प्रकार से चल रहे हैं-

हरियाणा की रोहतक मंडी  में कपास का भाव 7465 रुपए, फतेहाबाद - हरियाणा में कपास का भाव 7425 रुपए प्रति क्विंटल रहा। एलेनाबाद मंडी में कपास के भाव  7415 रुपए प्रति क्विंटल के आसपास रहा। जामनगर कपास मंडी में भाव 8220 रुपए प्रति क्विंटल चल रहा है। भावनगर मंडी में कपास का भाव  8125 रुपए प्रति क्विंटल के आसपास है। मध्य प्रदेश कपास मंडी में भाव 7400 रुपए प्रति क्विंटल के आस-पास चल रहे हैं। हिसार मंडी में कपास का भाव 7480 रुपए प्रति क्विंटल चल रहे हैं। बीजापुर मंडी कपास एलएच-1556 का भाव 7890 रुपए प्रति क्विंटल है। गुजरात के अमरेली में कपास भाव 8220 रुपए प्रति क्विंटल चल रहा है। हरियाणा की मेहम कपास मंडी में कपास का भाव 7455 रुपए प्रति क्विंटल बना हुआ है। बिहार जुट -मध्यम का भाव 4710 रुपए प्रति क्विंटल चल रहा है। राजकोट मंडी में कपास भाव 8175 रुपए प्रति क्विंटल के आसपास हैं। महुवा-स्टेशन रोड गुजरात मंडी में कपास का भाव 8140 रुपए प्रति क्विंटल है। हरियाणा की सिरसा मंडी-मध्यम कपास भाव 7460 रुपए प्रति क्विंटल है।

 

अगर आप अपनी कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण, दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back