गलवान घाटी मामले में भारत के साथ खड़ा हुआ अमेरिका, कहा-भारतीय सेना ने सही जवाब दिया

गलवान घाटी मामले में भारत के साथ खड़ा हुआ अमेरिका, कहा-भारतीय सेना ने सही जवाब दिया

Posted On - 09 Jul 2020

अमेरिका ने चीनी सेना की कार्रवाई को गलत माना

दुनियाभर में कोरोना वायरस फैलाने के बाद जहां चीन ने अपनी विश्वसनीयता खो दी है। वहीं भारत के साथ गलवान घाटी विवाद में विश्व के अधिकांश चीन को गलत मान रहे हैं। गलवान घाटी मामले में अमेरिका ने भारत का खुलकर समर्थन किया है और चीनी सेना की कार्रवाई को गलत माना है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर चीन के साथ जारी विवाद को लेकर अमेरिका भारत के साथ खड़ा है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि सीमा विवाद पर चीन के आक्रामक रूख का भारत ने सही तरीके से जवाब दिया है।

चीन पर निशाना साधते हुए पोम्पिया ने कहा कि चीन का उसका हर पड़ोसी देश के साथ सीमा विवाद है। पोम्पियो ने कहा कि भारत-चीन सीमा विवाद पर उन्होंने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात की। चीन ने बिना किसी उकसावे के सीमा पर आक्रामक कार्रवाई की और भारत ने इसका सही तरीके से जवाब दिया है।

 

 

चीन का हर पड़ौसी देश से सीमा विवाद

पोम्पियो ने कहा कि हिमालय से लेकर समुद्र में वियतनाम के सेनकाकू द्वीप तक हर जगह चीन का सीमा विवाद है। चीन के पास क्षेत्रीय विवाद को भडक़ाने और उससे लाभ उठाने का एक सेट पैटर्न है। माइक पोम्पियो ने कहा कि चीन क्षेत्रीय विवाद उकसा कर अपना उल्लू सीधा करता है और दुनिया को चीन की यह धौंस चलने नहीं देना चाहिए।

अमेरिका के विदेश मंत्री ने कहा किचीन की कम्युनिस्ट पार्टी के पास विश्वसनीयता का संकट है। वह दुनिया को कोरोना वायरस की सच्चाई बताने में विफल रहा है। इस कारण दुनिया भर में अब तक लाखों लोग मर चुके हैं। उन्होंने कहा कि चीन अपने लोगों को खुले तौर पर भावना व्यक्त करने की अनुमति नहीं देता।

 

अगर आप अपनी  कृषि भूमि, अन्य संपत्ति, पुराने ट्रैक्टर, कृषि उपकरण,  दुधारू मवेशी व पशुधन बेचने के इच्छुक हैं और चाहते हैं कि ज्यादा से ज्यादा खरीददार आपसे संपर्क करें और आपको अपनी वस्तु का अधिकतम मूल्य मिले तो अपनी बिकाऊ वस्तु की पोस्ट ट्रैक्टर जंक्शन पर नि:शुल्क करें और ट्रैक्टर जंक्शन के खास ऑफर का जमकर फायदा उठाएं।  

Quick Links

scroll to top
Close
Call Now Request Call Back